जान जोखिम में....


पी.डी.एफ़ छापें ई-मेल
चितौड़गढ़, ३१ जुलाई (प्रासं) । सावन मास के इन दिनों में हाडौती एवं कोटा से बड़ी संख्या में लोगों के उमड़ने के बीच निजी बस चालको द्वारा लोगों को छतों पर भी यात्रा करवा उनकी जान जोखिम में डाली जा रही हैं ।
कोटा एवं हाडौती से इन दिनों चितौड़गढ़ जिले के सांवलिया जी में स्थित सांवलिया जी के दर्शन करने के लिए प्रतिदिन बड़ी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं । इनमें से बड़ी संख्या में श्रृद्धालु रेल से यहॉ पहंुच रहे हैं, जिनकी सुविधा के लिए रेल्वे स्टेशन के बाहर रोडवेज ने तो किसी तरह की व्यवस्था नहीं की हैं, लेकिन निजी बस मालिकों ने अपने अन्य रूटो पर चलने वाली बसों को भी सांवलिया जी तक के लिए लगा दिया हैं ।
रेल्वे स्टेशन के बाहर से इन दिनों निजी बसो में बड़ी संख्या में लोगो को ठंूस ठूंस कर भर कर सांवलिया जी ले जाया जा रहा हैं । यहीं नहीं यात्रियों को छतों पर भी बिठा कर ले जाया जा रहा है, एवं उनकी जान जोखिम में डाली जा रही है, लेकिन इसके बावजूद इन बस चालको के खिलाफ न तो पुलिस प्रशासन द्वारा कार्यवाही की जा रही है और न ही परिवहन विभाग द्वारा कदम उठाए जाने से निजी बसो में ऊपर नीचे यात्रियों को भर कर सांवलिया जी ले जाया जा रहा हैं ।
इन दिनों सांवलिया जी के लिए बड़ी संख्या में लोगों के आने के बावजूद रोड़वेज द्वारा अधिक बसो को नहीं लगाना भी आश्चर्य का विषय हैं । रोड़वेज अधिकारियों के अनुसार, शुक्रवार को सांवलिया जी के लिए ५-६ बसो की व्यवस्था की गई थी । रोड़वेज के पास अधिक बसे नहीं होने की वजह से अधिक बसो को लगाना सम्भव नहीं हो पा रहा है ।

No comments:

ShareThis

copyright©amritwani.com

: जय श्री सांवलिया जी : : सभी कानूनी विवादों के लिये क्षेत्राधिकार चित्तोडगढ होगा। प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक/संचालकों का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। सम्प्रदाय विरोधी , अनैतिक,अश्लील, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी , मिथ्या , तथा असंवैधानिक कोई भी सामग्री यदि प्रकाशित हो जाती है तो वह तुंरत प्रभाव से हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता भी समाप्त करदी जाएगी। यदि कोई भी पाठक कोई भी आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक मंडल को सूचित करें | : जय श्री सांवलिया जी :