मासिक मेला शुरू

सांवलियाजी
कृष्णधाम सांवलियाजी में गुरुवार को मासिक मेले का शुभारंभ हुआ। इसमें पहले दिन भगवान की राजभोग आरती के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच जयकारों के साथ भंडारा खोला गया। पुजारी नारायणदास ने भगवान को गंगाजल से स्नान करवा नवीन वस्त्राभूषण धारण करवाए। पिछवाई व गले में पुष्पाहार सजाए। इत्र चंदन अर्पितकर भोग धराया। भगवान के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं के आने का क्रम दिनभर जारी रहा। इनमें कई श्रद्धालु मकर संक्रांति पर दान-पुण्य करते नजर आए।

सूर्य ग्रहण से दर्शन काल प्रभावित
सांवलियाजी. प्रशासनिक अधिकारी भगवान चतुर्वेदी ने बताया कि शुक्रवार को सूर्यग्रहण के कारण मंदिर में दर्शन ग्रहण के मोक्ष के बाद होंगे। मंदिर को गंगाजल से धोया जाएगा। गर्भ गृह के पर्दे, भगवान के वस्त्रादि बदले जाएंगे व गंगाजल से स्नान करवाया जाएगा। ग्रहण के कारण शुक्रवार की मंगला आरती, राजभोग आरती, शृंगार व उत्थापन झांकी के दर्शन नहीं हो पाएंगे। शुद्धिकरण के बाद दर्शन खुलेंगे। ब्रह्मभोज का भंडारा रात आठ बजे शुरू होगा।

No comments:

ShareThis

copyright©amritwani.com

: जय श्री सांवलिया जी : : सभी कानूनी विवादों के लिये क्षेत्राधिकार चित्तोडगढ होगा। प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक/संचालकों का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। सम्प्रदाय विरोधी , अनैतिक,अश्लील, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी , मिथ्या , तथा असंवैधानिक कोई भी सामग्री यदि प्रकाशित हो जाती है तो वह तुंरत प्रभाव से हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता भी समाप्त करदी जाएगी। यदि कोई भी पाठक कोई भी आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक मंडल को सूचित करें | : जय श्री सांवलिया जी :