सांवलियाजी मन्दिर में होगा कडा पहरा


चित्तौडगढ । देश के प्रमुख धार्मिक स्थल श्री सांवलिया सेठ मंदिर की सुरक्षा का घेरा और कडा जाएगा। सुरक्षा प्रहरियों को अत्याधुनिक हथियारों से लैस कर संदिग्ध लोगों पर कडी नजर रखी जाएगी।

देश में हाल ही विभिन्न हिस्सों में हुए आतंकी हमले से मण्डफिया स्थित श्री सांवलिया सेठ मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था को जिला प्रशासन की चिंता बढ गई है। मंदिर को हर संभावित खतरे से बचाने के लिए प्रशासन ने सुरक्षा व्यस्था को और कडा करने का निर्णय किया है। इसके तहत विशेष सुरक्षा योजना बनाई गई है। योजना के तहत मंदिर क्षेत्र में अत्याधुनिक हथियारों से लैस सुरक्षा प्रहरियों की नियुक्ति की जाएगी।

मंदिर क्षेत्र के चहुंओर से चौकसी रखी जाएगी। मंदिर क्षेत्र में श्रद्धालुओं का ठहराव लम्बे समय तक नहीं होने दिया जाएगा, सुरक्षाकर्मियों की संख्या और बढाई जाएंगी। इसी प्रकार प्रशासन ने संदिग्ध लोगों पर कडी नजर रखने और नियमित तलाशी अभियान चलाए रखने का भी प्रस्ताव लिया है।

चढावे ने बढाई चिंता

सालाना बारह करोड का चढावा मिलने से भी पुलिस प्रशासन सुरक्षा व्यवस्था को लेकर चिंतित है। मंदिर में प्रत्येक माह चढावे की राशि की गिनती होती है। बढती चढावा राशि ने अब सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस प्रशासन की चिंता बढा दी हैं। चढावा राशि की गिनती अब गोपनीय रूप से कैमरे के सामने ही कराई जा रही है।

विशेष योजना पर जल्द अमल

मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर विशेष योजना बनाई जा रही है। जिला कलक्टर डॉ.समित शर्मा व पुलिस अधीक्षक महेश गोयल की स्वीकृति पर योजना को जल्द अमल में लाया जाएगा।- सुरेन्द्र माहेश्वरी, मुख्य निष्पादन अधिकारी एवं अतिरिक्त जिला कलक्टर।

No comments:

ShareThis

copyright©amritwani.com

: जय श्री सांवलिया जी : : सभी कानूनी विवादों के लिये क्षेत्राधिकार चित्तोडगढ होगा। प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक/संचालकों का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। सम्प्रदाय विरोधी , अनैतिक,अश्लील, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी , मिथ्या , तथा असंवैधानिक कोई भी सामग्री यदि प्रकाशित हो जाती है तो वह तुंरत प्रभाव से हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता भी समाप्त करदी जाएगी। यदि कोई भी पाठक कोई भी आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक मंडल को सूचित करें | : जय श्री सांवलिया जी :