भगवान को डेढ लाख की पोशाक



मण्डफिया। चित्तौडगढ जिले में भादसोडा चौराहे के निकट स्थित भगवप्राकट्य स्थल मन्दिर में एक श्रद्धालु ने स्वर्ण व हीरे से जडित रजत वागा (पौशाक) भेंट की है।


मन्दिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी राजेन्द्र सोमाणी ने बताया कि एक श्रद्धालु ने लगभग 77 ग्राम स्वर्ण तथा 1.500 किलो से ज्यादा चांदी व हीरे से जडित वागा भेंट किया। इस वागे के पहनाने के बाद प्रतिमा का आकर्षक शृंगार किया गया। इस वागे की कीमत करीब डेढ लाख रूपए है।

No comments:

ShareThis

copyright©amritwani.com

: जय श्री सांवलिया जी : : सभी कानूनी विवादों के लिये क्षेत्राधिकार चित्तोडगढ होगा। प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक/संचालकों का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। सम्प्रदाय विरोधी , अनैतिक,अश्लील, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी , मिथ्या , तथा असंवैधानिक कोई भी सामग्री यदि प्रकाशित हो जाती है तो वह तुंरत प्रभाव से हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता भी समाप्त करदी जाएगी। यदि कोई भी पाठक कोई भी आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक मंडल को सूचित करें | : जय श्री सांवलिया जी :